गर्भवती महिलाओं के लिए गर्भावस्था सहायता योजना

गर्भावस्था सहायता योजना

गर्भावस्था सहायता योजना – गर्भवती महिलाओं की सेहत और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए केंद्र सरकार ने एक नयी योजना शुरू की है जिसका नाम गर्भावस्था सहायता योजना। यह योजना खास तौर पर गर्भवती महिलाओं के लिए शुरू की गई है। इस योजना का शुभ आरम्भ 31 दिसंबर 2016 को किया गया था। इस योजना के तहत सरकार गर्भवती महिलाओं को उनकी गर्भावस्था के दौरान उनकी सहायता के लिए 6000 रुपये प्रदान करेगी।

गर्भावस्था सहायता योजना का उद्देश्य

केंद्र सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना का मुख्य उद्देश्य गर्भवती महिलाओं को उनकी गर्भावस्था के दौरान आर्थिक सहायता प्रदान करना है। यह योजना गर्भवती महिलाओं की सुरक्षा को ध्यान में रखकर शुरू की गई है। जिसके माध्यम से गर्भवती महिलाओं की मृयु दर को कम करने में मदत मिलेगी। इस योजना के तहत सरकार द्वारा गर्भवती महिला को प्रसव के पश्चात 6000 रुपये दिए जायेंगे। इस योजना का लाभ अधिक से अधिक महिलाओ को देने के लिए देश में लगभग 650 जिलों में शुरू किया जा रह है। यदि किसी महिला का प्रसव हस्पताल में होता है तो उसको मिलने वाली सहायता राशि उसके बैंक खाते में जमा कर दी जाएगी।

सरकारी आकंड़ो के अनुसार पुरे विश्व में गर्भवती महिलाओं की मृत्यु में से 17% केवल भारत में हैं। इसके अलावा यह भी अनुमान है की लगभग 100,000 गर्भवती महिलाओं में से 167 महिलाओं की मृत्यु किन्ही कारणों प्रसव के दौरान ही हो जाती है। इसके साथ यह भी अनुमान है की प्रति 1000 शिशुओं में से 43 शिशुओं की भी मृत्यु हो जाती है। इन आकंड़ो को देख कर यह अनुमान लगाया जा सकता है की अन्य देशो के तुलना में हमारे देश में यह मृत्यु दर काफी अधिक है। इस बढ़ती मृत्यु दर का कारण केवल एक ही हो सकता है कि एक गर्भवती महिला को उसकी गर्भावस्था के दौरान पोष्टिक भोजन न मिलना और बच्चे के जन्म के समय सही चिकित्सा का न मिलना।

इस योजना को अभी शुरूआती तौर पर 53 जिलों में शुरु किया जा रहा है। जिसमे सहायता राशि के रूप में 4000 रुपये प्रदान किये जा रहे है। हालाँकि यह योजना 2010 में इंदिरा गांधी मातृत्व सहयोग योजना (IGMSY) के नाम से शुरू किया गया था। पहले इस योजना के तहत 18 वर्ष की आयु से अधिक की गर्भवती महिलाओं को 2 जीवित जन्मे बच्चों के जन्म के लिए ही सहायता राशि प्रदान की जाती थी। परन्तु अब इस नई योजना के अनुसार सहायता राशि को 6000 बढ़ाकर रुपये कर दिया गया है जिसका लाभ सीधे गर्भवती महिलाओं के बैंक खाते में जमा करके दिया जायेगा।

गर्भावस्था सहायता योजना के लाभ

  • गर्भवती महिला को प्रसव के पश्चात 6000 रुपये की सहायता राशि
  • गर्भवती महिला के प्रसव के पश्चात मिलने वाली सहायता राशि महिला के बैंक खाते में जमा की जाएगी।
  • इस योजना का लाभ सभी गर्भवती महिलाओं को दिया जायेगा।
गर्भावस्था सहायता योजना के लिए आवेदन कैसे करे

आधिकारिक तौर पर अभी इस योजना की शुरुआत नहीं की गई है इसे जल्द से जल्द शुरू किया जा सकता है। योजना के आवेदन सम्बंधित सभी जानकारी जल्द ही उपलब्ध होगी।

One comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *