उड़ीसा सरकार ने बच्चों के सशक्तिकरण के लिए बीजू शिशु सुरक्षा योजना शुरू की

राज्य सरकार ने आज बच्चों के लिए बीजू शिशु सुरक्षा योजना (BSSY) का शुभारंभ किया। यह योजना उन बच्चो को एक सुरक्षा तंत्र प्रदान करेगी जो जैविक या दत्तक माता पिता के बिना कर रहे हैं, कानूनी संरक्षक, प्रभावित / एचआईवी से संक्रमित हैं।

इस योजना में मौजूदा केन्द्र प्रायोजित योजना से एकीकृत बाल संरक्षण योजना के लिए अतिरिक्त संसाधनों और पूरक के तौर तरीकों को उपलब्ध कराया जाएगा।
इस योजना का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने कहा कि इस योजना के अन्तर्गत बच्चों को उच्च शिक्षा और पुनर्वास के लिए सहायता दी जाएगी। उन्होंने कहा कि यह  योजना बालिकाओं के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगी।
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार इस योजना के तहत तकनीकी शिक्षा, अध्ययन सामग्री और अन्य संबंधित खर्च जोकि उच्च शिक्षा विभाग की ‘ग्रीन पैसेज’ योजना के तहत कवर नहीं किये गए थे उनके लिए 7000 से 40,000 रुपये विभिन्न पाठ्यक्रमों के लिए प्रदान किये जाएंगे।
इस योजना के तहत प्रत्येक जिले के टॉप तीन मेधावी छात्रों को छात्रवृत्ति प्रदान की जाएगी। इसके अलावा,  जो छात्र HSC परीक्षा पास क्र लेंगे उन्हें 20,000 हजार रूपए प्रदान किये जाएंगे। बालिकाओं के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए 1000 रुपये प्रति वर्ष की राशि बालिकाओं की सुकन्या समृद्धि खाते में जमा कि जाएगी जब तक कि वह 18 साल की ना हो जाए।
लड़कियों के लिए 50,000 रुपये और लड़कों के लिए 40,000 रुपये की टोकन सहायता उनके  विवाह समारोह की सुविधा के लिए 18 और 21 वर्ष पूरे होने पर उनके बैंक खातों में जमा की जाएगी।
मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर नए ममता सॉफ्टवेयर का भी शुभारंभ किया।  इस योजना के तहत 3,000 रुपये ई-हस्तांतरण के माध्यम से गर्भावस्था के छह महीने के बाद महिलाओं के खातों में जमा की जाएगी और 2,000 रुपये 10 महीनों के बाद उन्हें उपलब्ध कराया जाएगा।
ममता योजना को सफल बनाने के लिए आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी सहायक और आशा कार्यकर्ताओं के लिए प्रोत्साहन राशि की घोषणा भी की गयी थी। 1.78 लाख आंगनवाड़ी और आशा  कार्यकर्ताओं को लाभ पहुँचाने के लिए 1000 रुपये और 5,000 रुपये की प्रोत्साहन राशि प्रदान कि जाएगी।
मुख्यमंत्री ममता योजना के कार्यान्वयन में सफलता के लिए ढेंकानाल, क्योंझर और जगतसिंहपुर जिलों को सम्मानित किया।  महिला एवं बाल विकास मंत्री उषा देवी, अनुसूचित जनजाति और अनुसूचित जाति विकास मंत्री लालबिहारी हिमिरिक, पर्यटन और संस्कृति अशोक पांडा राज्य मंत्री, मुख्य सचिव एपी पाधी और वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
Source: http://www.odishanewsinsight.com/tag/biju-sishu-surakshya-yojana/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *